Nirvaan Babbar

(04/03/1975 / Delhi)

Poems of Nirvaan Babbar

1. I BELIEVE IN, WHAT I AM 1/19/2014
2. LIFE IS BEAUTIFUL 1/19/2014
3. O My Sweet Baby 1/19/2014
4. PEACE 1/19/2014
5. Somehow, We All Have Lost His (Almighty) Way, Actually The Right Way, 4/24/2014
6. THINK BEYOND HORIZON 1/19/2014
7. WHERE & WHEN 1/19/2014
8. अनंत अपार है दृष्टिकोण (ANANT APAAR HAI DRISHTIKON) 8/31/2013
9. अपने तो यहाँ मिलते ही नहीं (APNE TO YAHAN MILTE HI NAHI) 8/26/2013
10. अपने दिल की बात सुनले (Apne Dil Ki Baat Sunle) 9/2/2013
11. अपनी फितरत है (Apni Fitrat Hai) 1/23/2014
12. अब तो हृदय से विचार.... विचारों (AB TO HRIDAY SE VICHAAR VICHAARO) 8/17/2013
13. अभी नव संसार बसाना बाकी है (ABHI NAV SANSAAR BASAANA BAAKI HAI) 8/30/2013
14. आखिर प्यार क्या है (Akhir Pyar Kya Hai) 12/5/2013
15. आज ये विचार करें (AAJ YE VICHAAR KAREN) 8/29/2013
16. आज रात है बहुत ही भरी (AAJ RAAT HAI BAHUT HI BHAARI) 8/28/2013
17. आते जाते राहों मैं (Aate Jaate Raahon Main) 12/2/2013
18. आहात है अब हर मानव 10/20/2013
19. इश्क़ है. जो ख़ुदा जैसा है (Ishq Hai, Jo Khuda Jaisa Hai) 3/24/2014
20. ऐ मेरी ज़िन्दगी तू हसीं है बड़ी (AE MERI ZINDAGI TU HASIN HAI BADI) 9/4/2013

मछली रानी (MACHALI RANI)

मछली रानी बड़ी सयानी,
जल मैं विचरण करती है,

जल मैं ही जीवन है जीती,
जल मैं ही नव संसार वो रचती है,

छोटे - छोटे, बड़े से बड़े, कई आकारों मैं मिलती है,
प्यारी - प्यारी, मछली रानी, अनगिनत रंगों से सजती है,

निर्वान बब्बर

[Hata Bildir]