milap singh


Pratham Hindu Mahasangiti: Next Part


नही -नही- यह
गलत सलाह है
हमें किसी ओर ही
राह पे चलना होगा
अब हम इक्कसवी सदी में है
अब धीरे -धीरे
ये समाज ही बदलना होगा

नही छोड़ना है
हिन्दू धर्म को
नही थामना है किसी और धर्म को
बस धर्म के इस मिथ्या पक्ष को बदलना है
जो चुप -चाप प्रवेश कर गया था इसमें
इक विष, इक रोग बनकर
इस पुरातन -सनातन तन में
इस चिरंजीवी धर्म में

उस जाति -प्रथा को दूर करना है
इसका कोई ओर उपचार नही है
हमें
प्रथम हिन्दू महा संगीति के
पथ पर ही चलाना है

सुनहरी था हमारा आदिकाल
भविष्य भी हमारा भव्य ही होगा
अब वक्त आ गया है
इस कुरीति को दूर करने का
अब हर कोई यहाँ पर सभ्य होगा

बहुत झेला है अपमान
बहुत लुटाया है मान
बस किसी ने चुपके से शरारत कर के
छीन लिया था हमसे सम्मान

हम इस सब के अधिकारी नही थे
हमें बनाया गया था धोखे से
वास्तव में हम भीखारी नही थे
हमने भी जन्म लिया था
उसी रंग के खून से
उसी क्रिया से, उसी प्रक्रिया से
हमको भी भेजा था मालिक ने
मानव की जून में
पर यहाँ हम लोगों से धोखा हुआ था

कविता का अगला भाग आगे की पोस्ट में भेजूंगा

Submitted: Wednesday, September 04, 2013
Edited: Wednesday, September 04, 2013

Do you like this poem?
0 person liked.
0 person did not like.

What do you think this poem is about?



Read this poem in other languages

This poem has not been translated into any other language yet.

I would like to translate this poem »

word flags

What do you think this poem is about?

Comments about this poem (Pratham Hindu Mahasangiti: Next Part by milap singh )

Enter the verification code :

There is no comment submitted by members..

PoemHunter.com Updates

New Poems

  1. The Now., RAJ VIKRAM
  2. The Mirror, RAJ VIKRAM
  3. A reverie, RAJ VIKRAM
  4. Like Arrows In Quivers, Saiom Shriver
  5. The Monster, crystal ruth
  6. A.Blok, You are - the wild call.. - tran.., Lyudmila Purgina
  7. A.Blok, As day so light... - translation.., Lyudmila Purgina
  8. A.Blok, The Petersburg twilights..- tran.., Lyudmila Purgina
  9. quotation # 4, saint cynosure ( Ken Bennigh ..
  10. Thanks For What?, Liliana EL.

Poem of the Day

poet Joseph Addison

Salve magna parens frugum Saturnia tellus,
Magna virûm! tibi res antiquæ laudis et artis
Aggredior, sanctos ausus recludere fontes.
Virg. Geor. 2.

...... Read complete »

   

Trending Poems

  1. The Road Not Taken, Robert Frost
  2. Annabel Lee, Edgar Allan Poe
  3. If, Rudyard Kipling
  4. Do Not Go Gentle Into That Good Night, Dylan Thomas
  5. Phenomenal Woman, Maya Angelou
  6. Invictus, William Ernest Henley
  7. Stopping by Woods on a Snowy Evening, Robert Frost
  8. All the World's a Stage, William Shakespeare
  9. No Man Is An Island, John Donne
  10. Still I Rise, Maya Angelou

Trending Poets

[Hata Bildir]