Maithili Sharan Gupt

(3 August 1886 – 12 December 1964 / Chirgaon, Uttar Pradesh / British India)

नर हो, न निराश करो मन को


कुछ काम करो, कुछ काम करो
जग में रह कर कुछ नाम करो
यह जन्म हुआ किस अर्थ अहो
समझो जिसमें यह व्यर्थ न हो
कुछ तो उपयुक्त करो तन को
नर हो, न निराश करो मन को

संभलों कि सुयोग न जाय चला
कब व्यर्थ हुआ सदुपाय भला
समझो जग को न निरा सपना
पथ आप प्रशस्त करो अपना
अखिलेश्वर है अवलंबन को
नर हो, न निराश करो मन को

जब प्राप्त तुम्हें सब तत्त्व यहाँ
फिर जा सकता वह सत्त्व कहाँ
तुम स्वत्त्व सुधा रस पान करो
उठके अमरत्व विधान करो
दवरूप रहो भव कानन को
नर हो न निराश करो मन को

निज़ गौरव का नित ज्ञान रहे
हम भी कुछ हैं यह ध्यान रहे
मरणोंत्‍तर गुंजित गान रहे
सब जाय अभी पर मान रहे
कुछ हो न तज़ो निज साधन को
नर हो, न निराश करो मन को

प्रभु ने तुमको दान किए
सब वांछित वस्तु विधान किए
तुम प्राप्‍त करो उनको न अहो
फिर है यह किसका दोष कहो
समझो न अलभ्य किसी धन को
नर हो, न निराश करो मन को

किस गौरव के तुम योग्य नहीं
कब कौन तुम्हें सुख भोग्य नहीं
जान हो तुम भी जगदीश्वर के
सब है जिसके अपने घर के
फिर दुर्लभ क्या उसके जन को
नर हो, न निराश करो मन को

करके विधि वाद न खेद करो
निज़ लक्ष्य निरन्तर भेद करो
बनता बस उद्‌यम ही विधि है
मिलती जिससे सुख की निधि है
समझो धिक् निष्क्रिय जीवन को
नर हो, न निराश करो मन को
कुछ काम करो, कुछ काम करो

Submitted: Thursday, April 05, 2012
Edited: Thursday, April 05, 2012

Form:


Do you like this poem?
20 person liked.
6 person did not like.

Read this poem in other languages

This poem has not been translated into any other language yet.

I would like to translate this poem »

word flags

What do you think this poem is about?

Comments about this poem (नर हो, न निराश करो मन को by Maithili Sharan Gupt )

Enter the verification code :

There is no comment submitted by members..

Trending Poets

Trending Poems

  1. The Road Not Taken, Robert Frost
  2. Still I Rise, Maya Angelou
  3. If You Forget Me, Pablo Neruda
  4. Daffodils, William Wordsworth
  5. Fire and Ice, Robert Frost
  6. Phenomenal Woman, Maya Angelou
  7. Dreams, Langston Hughes
  8. A Man's a Man for A' That, Robert Burns
  9. If, Rudyard Kipling
  10. Do Not Go Gentle Into That Good Night, Dylan Thomas

Poem of the Day

poet Thomas Nashe

Spring, the sweet spring, is the year's pleasant king,
Then blooms each thing, then maids dance in a ring,
Cold doth not sting, the pretty birds do sing:
...... Read complete »

 

Modern Poem

poet Seamus Heaney

 

New Poems

  1. Essence of world peace., Gangadharan nair Pulingat..
  2. love heals, Hyeladai kwapaya
  3. Republic day, Gangadharan nair Pulingat..
  4. The Heart of a Broken Hearted Girl, Serenity Anderson
  5. PH: Life: Black On White, Brian Johnston
  6. Experiencing Peace, RoseAnn V. Shawiak
  7. Have you lost your ways?, gajanan mishra
  8. Whose Fault is This?, Luo Zhihai
  9. Vibrations Of Spirituality, RoseAnn V. Shawiak
  10. RAFA, douglas scotney
[Hata Bildir]