Praveen Pandey


बिखरे शब्द


<इस कविता में मैंने वृद्धा आश्रम में रह रहे लोगो को विभिन्न शब्दों के रूप में स्थापित किया हैं
और कोशिश की हैं उस पल को आपसे मिलाने की, सुक्रिया।>

'बिखरे शब्द '
अनेकों बार दिखते थे
आते जाते लडखडाये दरवाजे से
कमरे में पड़े वो बिखरे शब्दों के मंजर
खंडहर सी हो चली थी
कुछ टूटे, कुछ फूटे पर गहरइयो में डूबे
समेटना मुश्किल था भावों के जोड़ने के संग
टिके थे कुछ शब्द दीवार से वोटे लगाये
मनो बया कर रहे हो कोई सहारे का कलम बन मुझको खड़ा कर जाये
कुछ और भी थे जो बिल बिलाए से
रुआसे हुए झुर्रियों लिए
शायद बता रहे हैं मलाल अब भी, न चुने जाने का किसी कविता के घरौदे में
कुछ शब्दों ने तो अपने अस्तित्व खो डाले हैं
और खो गये किसी अनजान जहाँ में
कुछ थे बैठे ब्रेन्चो पे पैर हिलाए गुनगुना रहे थे
लगा जैसे खुशियों से भरे शब्दों में उन्हें बार-२ पढ़ रहा हैं कोई
कुछ मग्न थे छत की दीवारों में आँखों में खोई हुई विसमिर्तियो संग
ऐसे अनेको थे
जिसमे से कुछ ने मेरी रूहों को छू लिया
और बंध गया मेरे कविता के बंधन में
पर जोखिम भरा था मेरे लिए इस पल को समेट पाना
और इस ब्लैक & वाइट का लिहाफ इस रंगीन दुनिया पे चड़ा पाना

Submitted: Monday, August 26, 2013
Edited: Tuesday, August 27, 2013

Do you like this poem?
0 person liked.
0 person did not like.

Read this poem in other languages

This poem has not been translated into any other language yet.

I would like to translate this poem »

word flags

What do you think this poem is about?

Comments about this poem (बिखरे शब्द by Praveen Pandey )

Enter the verification code :

There is no comment submitted by members..

Trending Poets

Trending Poems

  1. The Road Not Taken, Robert Frost
  2. If, Rudyard Kipling
  3. If You Forget Me, Pablo Neruda
  4. Dreams, Langston Hughes
  5. Invictus, William Ernest Henley
  6. Daffodils, William Wordsworth
  7. Stopping by Woods on a Snowy Evening, Robert Frost
  8. Alone, Edgar Allan Poe
  9. Still I Rise, Maya Angelou
  10. And Then There Was Love, Sandra Feldman

Poem of the Day

poet Alfred Edward Housman

The time you won your town the race
We chaired you through the market-place;
Man and boy stood cheering by,
And home we brought you shoulder-high.

...... Read complete »

   

Member Poem

New Poems

  1. alphabet you two bucks you drive a truck, Mandolyn ...
  2. Open the floodgate.., veeraiyah subbulakshmi
  3. A Dream Of Death,, Luo Zhihai
  4. Feeling Your Spirit, Michael P. McParland
  5. Word, Birgitta Heikka
  6. Ganjaraja And His Associates/Ganjaraja W.., Bijay Kant Dubey
  7. Royal Presidio Chapel, Monterey California, Steven Federle
  8. the apple of my I, Prophmatt . . .
  9. And Then There Was Love, Sandra Feldman
  10. Sigh, Erwick Brandon
[Hata Bildir]