Learn More

hasmukh amathalal

Gold Star - 18,721 Points (17/05/1947 / Vadali, Dist: - sabarkantha, Gujarat, India)

मेरे हो अब ' Mere ho ab


'मेरे हो अब मेरे ही अब''

में अमीरी पीछे छोड़ आया
और फकीरी को साथ में लाया
लोगो ने कहा 'इस पे है छाया'
बुरी नजरवाली रात का साया'

चले ठंडी ठंडी, गुलाबी हवा
मे भी सोचु और करू परवा
इस से तो अच्छा में होता चरवाहा
लोगो से लुटत़ा, धन्यवाद और वाह वाह

पूछना किसी से मुझे गवारा नहीं
में धीर और गंभीर, पर आवारा नहीं
में खेल खेलैया, सबका चहेता
शांत जल जैसे, नदी में बहेता

सूरज निकला है, साथ में बादल की छाया
लोगो ने पूछा ' चेहरा क्यों मुरझाया '
बाते दिल की जान ना सके वो
हम ने भी ठानी 'जो चाहे कर लो '

चाँद का चेहरा चमक रहा है
मेरा चेहरा क्यों दमक खो रहा है?
चाँद तो जाने उसकी बाते
पर में सोता नहीं सारी राते

करूंगा आज में बाते पूरी
देखूंगा रह ना जाये अधूरी
मुझे सूरज सुनेहरा लगा है
आत्मा दिल से पूरा जगा है

जिन्दगी के सफ़र में जब तुम मेरे साथ हो
तो फिर हर्ज क्या है जब हाथ में हाथ हो?
मुस्कुराना कोई नयी बात तो नहीं है
दान्त जैसे खिलते गुलाब की कली है

हंसोगे ना कभी तुम मेरी इस बात पर
चल दिया था घर से येही बात सोच कर
मनाना चाहता था, पर न कह सका तब
आज तुम्ही कह दो 'मेरे हो अब मेरे ही अब''

Submitted: Wednesday, July 17, 2013
Edited: Wednesday, July 17, 2013

Do you like this poem?
0 person liked.
0 person did not like.

Read this poem in other languages

This poem has not been translated into any other language yet.

I would like to translate this poem »

word flags

What do you think this poem is about?

Comments about this poem (मेरे हो अब ' Mere ho ab by hasmukh amathalal )

Enter the verification code :

Read all 7 comments »

Trending Poets

Trending Poems

  1. The Saddest Poem, Pablo Neruda
  2. Daffodils, William Wordsworth
  3. Still I Rise, Maya Angelou
  4. The Road Not Taken, Robert Frost
  5. I Knew a Woman, Theodore Roethke
  6. Stopping by Woods on a Snowy Evening, Robert Frost
  7. Do Not Go Gentle Into That Good Night, Dylan Thomas
  8. I Know Why The Caged Bird Sings, Maya Angelou
  9. A Little While, Dante Gabriel Rossetti
  10. No Man Is An Island, John Donne

Poem of the Day

poet Dante Gabriel Rossetti

A little while a little love
The hour yet bears for thee and me
Who have not drawn the veil to see
If still our heaven be lit above.
Thou merely, at the day's last sigh,
...... Read complete »

   

New Poems

  1. Colorful Dots-2, Pranab K. Chakraborty
  2. You, Joseph Archer
  3. दुखुनि मोदै हुगारनानै, Ronjoy Brahma
  4. Colorful Dots-1, Pranab K. Chakraborty
  5. Be The Candle, Neela Nath
  6. A Very Simple Song, Joseph Archer
  7. Yule Log, GRANT FRASER
  8. Necromancy, DEEPAK KUMAR PATTANAYAK
  9. Song For A Fisherman, Joseph Archer
  10. Saturday's Sultry Soho Spinster {Alliter.., Frank James Ryan Jr...FjR
[Hata Bildir]