hasmukh amathalal

Gold Star - 24,090 Points (17/05/1947 / Vadali, Dist: - sabarkantha, Gujarat, India)

' बस होगा ही अच्छा 'bas hoga hi


' बस होगा ही अच्छा '

मुझे दुःख जताने की कोई जरुरत नहीं
उम्मीदे कोई शोहरत भी कोई है ही नहीं
फिर भी तुम मेरे पास हो कोई वजह से
क्या कहूं दिलसे तुम कौनसी जगहपर हो बसे।.

नहीं लगती कोई मेरी किसी भी रिश्ते से
फिर भी बंधी हो गुमनाम सी एक डोरी से
में खींचा चला आता हूँ मंत्रमुग्ध सा
तुम ही तो हो आकर्षण जैसे सुगंध सा।

न ही तुम मेरी किश्ती की डोर हो
न ही कोई बारिश की बौछार हो
मै फिर भी कुछ ऐसा महसूस करता हूँ
हलके से मुस्कुराकर अपना सा एहसास करता हूँ

मेरा आसमान तुम बन चुकी हो
दिलो दिमाग पर पूरी छा चुकी हो
कहना कुछ बाकी नहीं और लिखने कि कोई हिम्मत नहीं
लगता है तुम्हारा मिलन हमारे किस्मत में नहीं।

अब जो भी होना है बस खोना है
उनके जाने का गम दिलमे बसाना है
कुछ और कर सकेतो उनकी मन्नत करना है
बस दिल कि बात सामने करने कि हिम्मत करना है।

बैरी पवन खुश्बू बिखेर रहा है
मेरी खस्ता हालात पर स्मित रैला रहा है
में सुधबुध खोकर सुन्न सा हो गया हूँ
बस न चाहते हुए भी खिन्नं हो गया हुँ।

कुछ रिस्ते ऐसे ही बन जाते है
वो अपने आपमें बेमिसाल होकर रह जाते है
इसको समजने की या कहने की आवश्यकता नहीं
बस सोच लो और समज लो येही नाजुकता है सही।

मैंने सोच लिया है 'कुछ न कुछ तो करना ही होगा'
मेरा सपना खुद ही संवारना या संजोना होगा
वो कभी कहकर व्यक्त नहीं कर पाएंगे महेच्छा
बस हम ने सोच लिया है ' जो भी होगा बस होगा ही अच्छा '

Submitted: Friday, February 21, 2014

Form:


Do you like this poem?
1 person liked.
0 person did not like.

Read this poem in other languages

This poem has not been translated into any other language yet.

I would like to translate this poem »

word flags

What do you think this poem is about?

Comments about this poem (' बस होगा ही अच्छा 'bas hoga hi by hasmukh amathalal )

Enter the verification code :

Read all 18 comments »

Trending Poets

Trending Poems

  1. Dreams, Langston Hughes
  2. As I Grew Older, Langston Hughes
  3. I Dream A World, Langston Hughes
  4. Still I Rise, Maya Angelou
  5. The Road Not Taken, Robert Frost
  6. Mother to Son, Langston Hughes
  7. I, Too, Langston Hughes
  8. Daffodils, William Wordsworth
  9. Tonight I can write the saddest lines, Pablo Neruda
  10. Suicide's Note, Langston Hughes

Poem of the Day

THE CHANCELLOR mused as he nibbled his pen
(Sure no Minister ever looked wiser),
And said, “I can summon a million of men
To fight for their country and Kaiser;

...... Read complete »

   

Member Poem

New Poems

  1. Osho, Bijay Kant Dubey
  2. Many Third-Classers, Bijay Kant Dubey
  3. As A Man, I Hate The Fanatic The Most, Bijay Kant Dubey
  4. Bapu, In Your Memory, Bijay Kant Dubey
  5. The Mirth of William, James Merchant
  6. -Untitled- (2), Morgan Siegel
  7. The Short Ballad of Egg Boy, James Merchant
  8. Logic in Life, Jayatissa Liyanage
  9. - Lady Andrea on the meadowland, Giorgio A. V.
  10. Lady Andrea on the meadowland, Giorgio A. V.
[Hata Bildir]